ख्वाब टूट गए तो,

ख्वाब टूट गए तो,
झटसे आँख खुल गयी…

दर्द भी सहने पडेंगे,
जिंदगी ये बताना भूल गयी…

© अमर ढेंबरे